ख्वाबों को बन्द पलकों में हिफ़ाज़त रखना – Hindi Poem

ख्वाबों को बन्द पलकों में हिफ़ाज़त रखना
यह रात लंबी कटेगी

सुबह जब उठो
इन सपनो की ज़रूरत पड़ेगी

hug your dreams

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.